Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana : ख़राब फसलों के लिए भी मिलेगी पूरी क़ीमत, देखें योजना

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana : प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ( Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana ) हर किसान के लिए बहुत उपयोगी है। यह किसी भी आपदा के कारण फसलों के नुकसान/विनाश को कवर करता है। नुकसान की स्थिति में प्रभावित किसानों को आर्थिक सहायता दी जाती है । PM फसल बीमा योजना ( PM Crop Insurance Scheme ) फरवरी 2016 में शुरू की गई थी । कृषि मंत्रालय के अनुसार, इस योजना के तहत अब तक 36 करोड़ से अधिक किसान ( Farmer ) आवेदकों का बीमा किया गया है और इस साल 4 फरवरी तक 1,07,059 करोड़ रुपये से अधिक के दावे का भुगतान किया गया ।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana
PM Crop Insurance Scheme

वर्ष 2020 में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ( Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana ) में कुछ सुधार किए गए, जिसके तहत प्राकृतिक आपदा से फसल खराब होने पर PM फसल बीमा योजना ( PM Crop Insurance Scheme ) एप, सीएससी या नजदीकी कृषि अधिकारी के माध्यम से 72 घंटे के भीतर इसकी सूचना किसान ( Farmer ) को देनी होती  है। साथ ही बीमा क्लेम की प्रक्रिया शुरू हो जाती है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का प्रीमियम

  • खरीफ फसल के लिए किसान द्वारा देय अधिकतम बीमा शुल्क ( बीमा राशि का प्रतिशत ) 2% है ।
  • रबी फसल के लिए किसान द्वारा देय अधिकतम बीमा शुल्क ( बीमा राशि का प्रतिशत ) 1.5% है ।
  • वार्षिक वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए किसान द्वारा देय अधिकतम बीमा शुल्क (बीमा राशि का प्रतिशत) 5 प्रतिशत है ।

अधिक जानकारी के लिए

pmfby.gov.in प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ( Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana ) से संबंधित आधिकारिक वेबसाइट है। यहां जाते ही होम पेज पर आपको डॉक्यूमेंट का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें। इसके बाद गाइडलाइंस पर क्लिक करें। फिर एक नया पेज खुलेगा। यहां आप “पीएमएफबीवाई बेसिक फीचर्स” पर क्लिक करके इससे संबंधित बुनियादी सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे । इसके अलावा आप pmfby.gov.in से भी अपने PM फसल बीमा योजना ( PM Crop Insurance Scheme ) के लिए आवेदन कर सकते हैं। होम पेज पर आपको बीमा के लिए आवेदन करने का पहला विकल्प मिलता है, जहां किसान ( Farmer ) को पहले अपना खाता बनाना होगा और फिर वहां से आप इसके लिए आवेदन भी कर सकेंगे।

आवेदन कैसे करें : Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने के लिए किसान ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से आवेदन कर सकते हैं। ऑनलाइन आवेदन के लिए PM फसल बीमा योजना ( PM Crop Insurance Scheme ) की आधिकारिक वेबसाइट pmfby.gov.in पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके लिए रजिस्ट्रेशन के दौरान पूछी गई सभी जानकारियां भरनी होंगी। वहीं, ऑफलाइन आवेदन करने के लिए किसान ( Farmer ) किसी भी नजदीकी बैंक से इस बीमा योजना का लाभ उठा सकते हैं ।

आवेदन का तरीका –

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ( Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana ) की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं !
  • होमपेज पर किसान कॉर्नर पर क्लिक करें !
  • अब अपने मोबाइल नंबर से लॉगिन करें और अगर आपका अकाउंट नहीं है तो गेस्ट किसान के रूप में लॉगिन करें !
  • सभी आवश्यक विवरण जैसे नाम, पता, आयु, राज्य आदि दर्ज करें ।
  • अंत में सबमिट बटन पर क्लिक करें ।

पीएम फसल बीमा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज –

  • राशन कार्ड
  • आधार से लिंक बैंक खाता संख्या।
  • पहचान पत्र
  • किसान का एक पासपोर्ट साइज फोटो
  • फार्म खसरा नंबर
  • किसान निवास प्रमाण पत्र।
  • यदि खेत किराए पर लिया गया है तो फार्म के मालिक के साथ हुए अनुबंध की छायाप्रति।

पीएम फसल बीमा योजना

यह एक ऐसी योजना है जिसके तहत किसी भी आपदा के कारण फसलों को होने वाले नुकसान को कवर किया जाता है । यह प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 18 फरवरी 2016 को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी । इस योजना के तहत फसल खराब होने की स्थिति में बीमा कवर उपलब्ध है । जो किसानों ( Farmer ) की आय को स्थिर करने में मदद करता है।

कृषि मंत्रालय के मुताबिक इस प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ( Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana ) के तहत अब तक 36 करोड़ से अधिक किसान ( Farmer ) आवेदकों का बीमा किया जा चुका है और इस साल 4 फरवरी तक 1,07,059 करोड़ रुपये से अधिक के दावों का भुगतान किया जा चुका है ! इस PM फसल बीमा योजना ( PM Crop Insurance Scheme ) में नामांकित किसानों में लगभग 85 प्रतिशत छोटे और सीमांत किसान हैं।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

वर्ष 2020 में इस PM फसल बीमा योजना ( PM Crop Insurance Scheme ) में कुछ सुधार किए गए। अब अगर किसी प्राकृतिक कारण से फसल खराब हो जाती है तो सबसे पहले 72 घंटे के अंदर बीमा कंपनी को इसकी सूचना देनी होगी । जिसके बाद बीमा कंपनी अधिकृत व्यक्ति को खेतों का निरीक्षण करने के लिए भेजेगी । वह किसान ( Farmer ) खेतों में क्षतिग्रस्त फसलों का आकलन करेगा और बीमा कंपनी को रिपोर्ट सौंपेगा । इन सभी प्रक्रियाओं के पूरा होने के बाद किसान को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ( Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana ) मुआवजा मिल जाता है।

यह भी पढ़ें – e-Shram Card Latest Update : ई-श्रम कार्ड धारक श्रमिकों को मिलेंगे 1-1 हज़ार, जानें कैसे

PM Mudra Loan Yojana : मुद्रा लोन योजना में आसानी से ले सकतें है 10 लाख, जानें प्रॉसेस